Posted in #RsArtIndia Good Night...

#RsArtIndia Good Night…

Advertisements
Posted in #RsArtIndia Good Night...

नोटबंदी का फायदा उठाने वाले पढ़ना ना भूलें यह खबर, नहीं तो जाना पड़ सकता है जेल #RsArtIndia source R.p.

आयकर विभाग ने नोटबंदी का फायदा उठाने वालों पर शिकंजा कसने के लिए बड़ा कदम उठाया है। विभाग अब आयकर रिटर्न दाखिल करते समय नोटबंदी के दौरान जमा कराए गए 500 और 1000 रुपए के नोटों का ब्यौरा भी मांग रहा है। इसके लिए विभाग ने आईटीआर भरने वाले सॉफ्टवेयर तक में बड़ा बदलाव कर दिया है। सोमवार को आयकर रिटर्न दाखिल कराने की आखिरी तारीख है। जिसके चलते जानकारी ना देने वालों के लिए मुसीबत खड़ी हो सकती है। आयकर विभाग ने करदाताओं पर शिकंजा कसने के लिए आईटीआर में बड़ा संशोधन किया है।सूत्रों ने बताया कि आयकर विभाग आयकर रिटर्न करने वालों से 9 नवम्बर 2016 से 30 दिसम्बर 2016 तक की अवधि में नोटबंदी के दौरान जमा कराए गए 1000 और 500 रुपए के पुराने नोटों का भी हिसाब मांग रहा है। आयकरदाताओं को रिटर्न फाइल करते समय ना सिर्फ जमा कराए गए नोटों की संख्या और उनकी मौद्रिक वेल्यू (कितने रुपए) बतानी होगी, बल्कि बैंक एकाउंट और बैंक की जिस शाखा में जमा कराए गए हैं उसकी जानकारी भी देनी होगी। सीए मिलिंद विजयवर्गीय ने बताया कि दो लाख से अधिक राशि के पुराने नोट जमा होने पर आयकर विभाग करदाता को नोटिस भेजकर आय के स्रोत की जानकारी मांग सकता है।

गलत जानकारी दी तो खैर नहीं आयरकर रिटर्न भरते समय नोटबंदी का फायदा उठाने की जानकारी देने के साथ ही पैन कार्ड को आधार कार्ड और बैंक खातों से लिंक करने की अनिवार्यता भी लागू कर दी है। एेसे में अगर किसी करदाता ने नोटबंदी के दौरान अपने बैंकों के बचत खातों, ऋण खातों और करंट एकाउंट आदि में दो लाख से अधिक की राशि जमा कराई है और आईटीआर में घोषित आय व नोटबंदी के दौरान जमा राशि का मिलान नहीं हो रहा है तो उनकी खैर नहीं। आयकर विभाग ऐसे लोगों को डिफॉल्टर मानकर उनके खिलाफ नोटिस जारी करेगा। जिसका सही जवाब ना देने पर आयकर कटौती करने के साथ ही विभाग कानूनी कार्रवाई भी कर सकता है ।

आधार ने बढ़ाई मुसीबत आयकर विभाग ने रिटर्न फाइल करने में आधार कार्ड की अनिवार्यता लागू कर दी है। एेसे में करदाता के पेन कार्ड के नाम व जन्मतिथि आधार कार्ड से मिसमैच हो रहे हैं। जिससे करदाताओं को रिर्टन फाइल ना होने पर खासा परेशान होना पड़ रहा है। इन सबके चलते करदाता आधार कार्ड में नाम, जन्मतिथि संशोधन करवाने के लिए ईमित्रों पर चक्कर काट रहे हैं, लेकिन सरकार ने ईमित्रों पर नाम संशोधन कराना भी बंद कर दिया है।

http://www.rsartindia.wordpress.com

Posted in #RsArtIndia Good Night...

India Rises to 2nd Spot on Business Optimism Index: Grant Thornton Survey

  • New Delhi: A survey conducted by Grant Thornton has stated that Indian business continue to be optimistic backed by a buoyant economy and continued reforms. According to the Grant Thornton International Business Report (IBR) survey, India’s ranking has rallied from 4th to 2nd position on the optimism index in the second quarter of 2017. The IBR finds that 94 percent Indian businesses are confident of India’s economic growth story. While India continues to rise on the optimism index, China is still struggling to build the business confidence with only 48 per cent businesses displaying confidence in the economic growth for the second consecutive quarter. The survey noted that the report was prepared on the results of a quarterly global business survey of 2,600 businesses in 37 economies. While only 52 percent respondents expect the selling prices to increase as against 55 percent in the last quarter, India saw a jump of two places in the ranking for this parameter to 4th position from 6th in the previous quarter. The report said that this may be nullified by the GST implementation. “After a slight dip in Q1, India is climbing the optimism charts faster, ranking 2nd on the index this quarter. Indian businesses expect an increase in selling prices and higher revenue, both reflected in the booming stock markets. The Government continues to bring in transformational reforms such as GST which has given a further push to optimism. The only worrying factor is the weak outlook on employment which we hope will give impetus to labour reforms. The other area which also needs to be addressed is exports,” said Harish HV, Partner – India leadership team, Grant Thornton India LLP, in a press release. The survey further stated that India also topped the chart on the ranking for revenue expectations with 78 percent of the businesses in India expecting an increase. “As far as the profitability expectation goes, 69 percent of the respondents expect higher profitability, thus, bringing India on the 2nd position on the chart from 6th position in the last quarter. While the APAC region has witnessed an increase in exports expectations, in India, there hasn’t been any significant rise on this parameter. Only 34 per cent of the businesses surveyed expect an increase in exports. This reflects the weakening sentiment on IT exports which may have caused this dip,” the IBR survey said. The report, additionally, has shed light on employment expectations in the country. India has slipped to 4th position from 3rd in the last quarter in the ranking for employment expectations. “There is a consistent fall in the employment expectations ranking in the last three quarters with 51 percent expecting a rise in employment in Q2 2017 compared to 56 percent and 62 percent in Q1 2017 and Q4 2016 respectively. This continues to be a worry for the Indian Economy,” the survey said.
  • #RsArtIndia
  • http://www.rsartindia.wordpress.com
Posted in #RsArtIndia Good Night...

मोदी विरोध की असली जड़ 🚫🚫👉💯% 3 साल में मिली 71,941 करोड़ अघोषित इनकम, सरकार से सुप्रीम कोर्ट को दी जानकारी..!!! इतने साल लूट के खाया हजम किआ नही!!अब न रखते बन रहा न ही निकलते 😜😛😜😛………

नई दिल्ली. केंद्र सरकार ने सुप्रीम कोर्ट को बताया है कि इनकम टैक्‍स डिपार्टमेंट की तलाशी, जब्‍ती और सर्वे में बीते 3 साल में 71,941 करोड़ रुपए की अघोषित इनकम मिली है। फाइनेंस मिनिस्ट्री ने शीर्ष कोर्ट को दिए एक एफिडेविट में बताया कि 9 नवंबर से 10 जनवरी तक नोटबंदी के दौरान 5400 करोड़ की अघोषित इनकम जमा हुई। इसमें 303.367 किलो का सोना जब्त हुआ।

केंद्र सरकार ने 1 अप्रैल 2014 से 28 फरवरी 2017 तक की अघोषित इनकम की डिटेल दी है। इसमें नोटबंदी का समय भी शामिल है। सुप्रीम कोर्ट में दिए एफिडेविट के मुताबिक,  तीन साल के दौरान टैक्‍स डिपार्टमेंट ने 2,027 ग्रुप पर छापे मारे। इनमें 36,051 करोड़ से ज्यादा की अघोषित इनकम बरामद हुई। इसके अलावा 2890 करोड़ की अघोषित संपत्ति भी जब्त की।

टैक्‍स डिपार्टमेंट ने किए 15000 सर्वे टैक्‍स डिपार्टमेंट ने 1 अप्रैल 2014 से लेकर 28 फरवरी 2017 तक 15,000 सर्वे किए, जिसमें 33000 करोड़ से ज्‍यादा की अघोषित इनकम का पता चला। सरकार ने नोटबंदी के उपलब्धि बताते हुए कहा कि 9 नवंबर से शुरू हुई नोटबंदी के 2 महीनों के दौरान टैक्‍स डिपार्टमेंट द्वारा सख्त कदम उठाए गए। नोटबंदी के दौरान टैक्‍स डिपार्टमेंट ने 1100 सर्चिंग-सर्वे और 5100 वेरिफिकेशन किए। इस कार्रवाई के चलते करीब 610 करोड़ की कुल संपत्ति जब्त की गई, जिसमें 513 करोड़ का नकद शामिल है। जब्‍त किए गए कैश में 110 करोड़ से ज्‍यादा की नई करंसी थी। कुल अघोषित इनकम 5400 करोड़ रुपए से ज्‍यादा रही।

नोटबंदी में नोट बदलने की विंडो का हुआ मिसयूज फाइनेंस मिनिस्‍ट्री ने हाल ही में 500 और 1000 रुपए के पुराने नोटों को बदलने का मौका देने से इनकार कर दिया था। फाइनेंस मिनिस्‍ट्री के अनुसार, 11 जुलाई को होम मिनिस्‍ट्री ने अपनी रिपोर्ट में बताया कि खुफिया एजेंसियों के अनुसार, नोटबंदी के दौरान नोट बदलने की विंडों का बड़े पैमाने मिसयूज किया गया। नवंबर और दिसंबर 2016 के दौरान करीब 147.9 करोड़ और 206.897 करोड़ रुपए नकद जब्‍त हुए। इसी तरह, नवंबर में 69.1 किलो और दिसंबर में 234.267 किलो सोना जब्‍त हुआ। एफिडेविट के अनुसार, 400 मामले सीबीआई और इन्‍फोर्समेंट डायरेक्‍टरेट को भेजे गए हैं। 

#RsArtIndia

http://www.rsartindia.wordpress.com

Posted in #RsArtIndia Good Night...

लपेटे में नेता जी.!!!!!!!!!!!!!! कांग्रेस की दोगली नीतिओं खिलाफ एक असरदार सरदार का वार आतंकवाद के खिलाफ मोदी जी की नीति के साथ..!!!!                       एम.एस बिट्टा, संबित पत्रा और किशोर अजवानी के साथ लपेटे में नेेता जी..।।।।   #RsArtIndia…

Stay Tuned on news18India…… http://www.rsartindia.wordpress.com

Posted in #RsArtIndia Good Night...

सोचिये इंसानों को भगवान बनाना है.!! यां भगवान को ही उसकी जगह पर प्रतिष्ठित करना है सोच आप की ओर ईच्छा भी आपकी..?????          #RsArtIndia…….

जो लोग अयोध्या में रामजन्मभूमि पर अस्पताल या स्कूल बनवाने की वकालत करते हैं…. वो लोग कृपया इस बात का उत्तर दे…??????
👇👇👇👇👇👇👇👇👇👇👇👇👇👇👇

दिल्ली (इंद्रप्रस्थ) में यह चार बड़ी समाधि (कब्र) हैं :-

पंडित जवाहरलाल नेहरू – 53 एकर
इंदिरा गांधी – 45 एकर
राजीव गांधी -15 एकर
मोहनदास गांधी – 44.35 एकर !!

अभी दिल्ली में 700 करोड़ प्रति एकड़ के हिसाब से जमीन मिलती है… यानी कुल 221900 करोड़ की यह जगा है… जिसे सरकारी जमीन पर कब्जा भी कहा जा सकता है।

यह 222 हजार करोड़ की सरकारी जमीन है।

वैसे दिल्ली में जगह की बहुत भारी किल्लत है।… ऐसे में.. क्या यह समाधी को इतनी बड़ी जगह देना सही है??

क्या उसी जगह.. अस्पताल या स्कूल नहीं बन सकते???

👉अयोध्या में रामजन्मभूमि पर अस्पताल या स्कूल बनवाने की वकालत करने वाले… खानग्रेसी और फेक्युलर लोगो…
पहले तूम उन चार समाधी की जगह पर.. अस्पताल या स्कूल बनवाकर दिखा दो.. बाद में राममंदिर के बारे में कहना…।।।।।।।।।।
😡😡❕❕फेक्युलर कुत्तो❕❕😡😡


डंके की चोट पर….मंदीर तो वही बनेगा


🚩🚩🚩🇮🇳 जय श्रीराम🇮🇳 🚩🚩🚩
डॉ. गजानन भारती
पुणे महाराष्ट्र
जय हिंद
#RsArtIndia
http://www.rsartindia.wordpress.com